ICICI Financial institution और PhonePe App ने मिलाया हाथ, लोगों के घरों तक फ्री में पहुंचाएंगे FASTag


नई दिल्ली: ICICI बैंक और डिजिटल पेमेंट वॉलेट PhonePe ने FASTag जारी करने के लिए आपस में साझेदारी की है. इस साझेदारी से लोगों को घर बैठे  FASTag कार्ड की सुविधा मिलनी शुरू हो जाएगी.  

फोन पे से खरीद सकेंगे नया FASTag

ICICI Financial institution के मुताबिक इस साझेदारी के तहत, फोनपे ऐप (PhonePe App) पर UPI का इस्तेमाल करके लोग नए FASTag के लिए अपना ऑर्डर दे सकेंगे. बैंक ने कहा कि इस साझेदारी से PhonePe App यूज करने वाले 28 करोड़ रजिस्टर्ड यूजर को फायदा होगा. वे न केवल इस ऐप के जरिए ICICI बैंक को FASTag के लिए ऑर्डर जारी कर पाएंगे बल्कि उसे ट्रैक भी कर सकेंगे. 

घर तक फ्री में होगी फास्टैग की डिलीवरी 

बैंक के अनुसार PhonePe App यूज करने वाले वे उपभोक्ता जो ICICI बैंक के ग्राहक भी हैं, उन्हें FASTag खरीदने के लिए स्टोर या टोल कलेक्शन स्टोर पर जाने की जरूरत नहीं होगी. ICICI बैंक के हेड (असुरक्षित परिसंपत्तियां) सुदीप्त रॉय ने कहा कि दोनों की इस साझेदारी से PhonePe इस्तेमाल करने वाले लाखों लोग आसानी से नए FASTag के लिए अप्लाई कर पाएंगे. इसके साथ ही इस FASTag की डिलीवरी भी उनके घर तक पूरी तरह फ्री में की जाएगी. 

लॉकडाउन हटने के बाद बढ़ी है ट्रैवलिंग

उन्होंने कहा कि जो लोग फोन पे का इस्तेमाल करते हैं लेकिन वे ICICI Financial institution के ग्राहक नहीं हैं, वे भी इस सुविधा का इस्तेमाल कर पाएंगे. वे भी UPI का इस्तेमाल कर अपना ऑर्डर दे सकेंगे और बाद में FASTag निशुल्क उनके घर पहुंचा दिया जाएगा. PhonePe के हेड (पेमेंट्स) दीप अग्रवाल ने कहा, ‘पिछले तीन महीनों में फास्टैग रिचार्ज में 145 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई है. इससे पता चल रहा है कि लॉकडाउन हटने के बाद लोगों का एक-दूसरे शहरों में आना-जाना बढ़ा है. ऐसे में लोगों को गाड़ियों में लगाने के लिए नए FASTag की जरूरत भी बढ़ी है.

साझेदारी से बढ़ेगी खरीदारों की संख्या

नेशनल इलेक्टॉनिक टोल कलेक्शन (NPCI) के हेड डेनी थॉमस (Denny Thomas) कहते हैं कि फोन पे और ICICI बैंक की इस साझेदारी से FASTag खऱीदने और रिचार्ज करने वालों की संख्या में और बढ़ोतरी होगी. जिससे टोल प्लाजाओं पर लगने वाले जाम में कमी आएगी.

ये भी पढ़ें- कार में FASTag होने के बावजूद लगेगा दोगुना टैक्स, अगर आपने की ये गलती

फास्टैग का इस्तेमाल ई-टोलिंग में होता है

बताते चलें कि FASTag,भारतीय राजमार्ग प्रबंधन कंपनी लिमिटेड (IHMCL) का एक ब्रांड नेम है. इसका इस्तेमाल भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) की ओर से बनाए गए टोल प्लाजाओं पर ई- टोलिंग और दूसरे कार्यों में किया जाता है. FASTag की सफलता के बाद अब नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI), IHMCL और NHAI मिलकर देश के सभी नेशनल हाईवे और स्टेट हाईवे के टोल प्लाजाओं के टोल भुगतान को पूरी तरह से डिजिटल बनाने के लिए काम कर रहे हैं. 

LIVE TV





Source link