banks is not going to cut back Fastened deposit fee after RBI coverage, right here is why | RBI मॉनिटरी पॉलिसी में Fastened deposit खाताधारकों के लिए अच्छी खबर, FD पर मिलता रहेगा ज्यादा ब्याज


नई दिल्ली: Fastened Deposit Charge: आज Financial Coverage में रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है. रेपो रेट four परसेंट और रिवर्स रेपो रेट 3.35 परसेंट पर ही बने हुए हैं. हालांकि RBI ने आज जो पॉलिसी पेश की है, इसका अनुमान बाजार के जानकार और इकोनॉमिस्ट पहले ही लगा चुके थे. रिजर्व बैंक ने देश में बढ़ते कोरोना के मामलों और लॉकडाउन को देखते हुए ब्याज दरों को नहीं छुआ. 

RBI ने ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया 

रिजर्व बैंक के इस फैसले का भले ही आपकी होम लोन और कार लोन की EMI पर कोई फर्क न पड़े, लेकिन अगर आप उन लोगों में से हैं जो अपना पैसा फिक्स्ड डिपॉजिट में रखना पसंद करते हैं तो आप राहत की सांस ले सकते हैं. क्योंकि अक्सर देखा जाता है कि जब रिजर्व बैंक ब्याज दरों में कटौती करता है तो बैंक्स लोन की दरें घटाते हैं, लेकिन इसको बैलेंस करने के लिए फिक्स्ड डिपॉजिट की दरें भी कम कर देते हैं.

ये भी पढ़ें- RBI Monetary Policy: सस्ते नहीं होंगे होम लोन! ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं, पॉलिसी के बाद शेयर बाजार में जोरदार तेजी 

RBI दरें घटाता तो FD की दरें भी घटाते बैंक्स!

क्योंकि ज्यादातर बैंकों के होम लोन रेट अबतक के सबसे निचले स्तरों पर हैं, इसके बाद अगर रिजर्व बैंक ब्याज दरों में कटौती करता तो बैंकों पर दबाव आ सकता है. ज्यादातर बैंकों के लोन रेपो रेट से लिंक्ड हैं, इसलिए उनकी ब्याज दरें घट जातीं. ऐसे में बैंकों के लिए मजबूरी में FD पर दरें घटानी पड़ती. हालांकि बीते कुछ हफ्तों में कई बैंकों ने FD की दरों में इजाफा किया है. 

फिलहाल FD की ब्याज में कटौती नहीं करेंगे बैंक

ये छठी बार है कि जब रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है. अब रिजर्व बैंक ने रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया है तो ऐसी उम्मीद है कि बैंक भी FD की दरों में कटौती नहीं करेंगे. इसलिए फिक्स्ड डिपॉजिट में पैसा रखने वालों को फिलहाल अच्छा रिटर्न मिलता रहेगा. 

इन बैंकों ने FD पर बढ़ाया ब्याज 

HDFC ने कुछ दिन पहले ही FD पर ब्याज दरें बढ़ाई थीं, Kotak Mahindra Financial institution और Axis Financial institution ने भी फिक्स्ड डिपॉजिट की दरों में बदलाव किया था. आमतौर पर बैंक्स फिक्स्ड डिपॉजिट पर अवधि के मुताबिक अलग अलग ब्याज देते हैं, जो 2.5 परसेंट से लेकर 5.eight परसेंट तक होती है. बैंक FD पर 7 दिन से लेकर 10 साल तक की अवधि पर ब्याज देते हैं.

ये भी पढ़ें- RTGS और NEFT के लिए बैंक की जरूरत नहीं! मोबाइल वॉलेट बन जाएगा ATM, जानिए RBI का नया कदम

LIVE TV





Source link